शनिवार, 16 मई 2020

कितना महत्वपूर्ण है मास्क कोरोना से लड़ने में? – How important is the mask in fighting corona?


कितना महत्वपूर्ण है मास्क कोरोना से लड़ने में? – How important is the mask in fighting corona?


कोरोना वायरस श्वशन तंत्र (Respiratory system) को संक्रमित करता है, respiratory disease होने के कारण यह एक मनुष्य से दूसरे में तेजी से फैलता है।

जब भी हम खाँसते , छींकते या बोलते है तो श्वशन तंत्र अर्थात नाक, मुँह से काफी छोटे छोटे droplets (बूंदे) निकलते है , अगर कोई कोरोना से संक्रमित व्यक्ति खासे, छीके या बात करे तो उनसे निकले droplets में कोरोना वायरस रहते है। यदि सामने वाला व्यक्ति अगर मास्क नही पहना है तो उसके संक्रमित होने की संभावना बढ़ जाती है।

मास्क संक्रमित एवं साधारण व्यक्ति सभी को पहनने की आवश्यकता है । मास्क पहने रहने से वायरस व्यक्ति के नाक एवं मुँह के जरिये प्रवेश नही कर सकता है। हवा में भी काफी समय तक वायरस जीवित रहता है, इसलिए बाहर निकलने पर हमेशा मास्क पहनना चाहिए।

 एक रीसर्च के अनुसार साधारण सर्जिकल मास्क 68% तथा N95 मास्क 98% प्रभावी है संक्रमण को रोकने में, यदि वो अच्छे सामग्री से बना हो और चेहरे में अच्छे से फिट हो।

मास्क ना केवल वायरस बल्कि बैक्टीरिया, धूल कण, प्रदूषण आदि से भी हमारा बचाव करता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें