रविवार, 31 मई 2020

First Astronaut launch by private company SpaceX : New era in space exploration. प्राइवेट कंपनी SpaceX द्वारा Astronauts को Space में भेजना : Space Industry में नए बदलाव का दौर।


First Astronaut launch by private company SpaceX : New era in space exploration.    प्राइवेट कंपनी SpaceX द्वारा Astronauts को Space में भेजना : Space Industry में नए बदलाव का दौर।

इतिहास में पहली बार किसी प्राइवेट कंपनी द्वारा 2 Astronauts को space mission में भेजा गया है। Elon Musk की कंपनी SpaceX द्वारा Falcon 9 राकेट द्वारा Crew Dragon Capsule में 2 astronauts को ISS (international Space Station) भेजा गया। 

 2011 के बाद पहली अमेरिकी धरती से किसी astronaut को space में भेजा गया है। 2011 से अब तक रूस के सोयुज राकेट से ही भेजा जा रहा था। 

USA, Russia  और चीन के सरकारी स्पेस एजेंसी  के बाद SpaceX चौथी संगठन बन गयी है जिसने यह काम कर दिखाया। 

नई और महत्वपूर्ण घटना यह नही है कि स्पेस में किसी astronauts को भेजा गया बल्कि यह महत्वपूर्ण है कि किसी private company द्वारा भेजा गया है। 

जहाँ पूरे विश्व में सरकार एजेंसी space program में एकाधिकार रहा है वहीं USA की NASA द्वारा private player को जगह देना और space exploration में शामिल करना, space exploration में नए युग की शुरुआत है। 

इस कोरोना लॉक डाउन के समय भारत में भी space exploration, development और कैपेसिटी बिल्डिंग में private investment को आने की आज्ञा दे दी है। अब निजी कंपनी ISRO के facility का उपयोग करके space exploration में भाग ले सकती है। 

Private player के इस सेक्टर में आने से सरकारी एजेंसी की मोनोपोली खत्म होगी। कॉम्पिटिशन से space program cost efficient होगा। NASA जैसी मुख्य कंपनी अपने अन्य टारगेट जैसे outer space एक्सप्लोरेशन, मार्स, जुपिटर मिशन, दूसरे planet में मानव बस्ती जैसे कठिन प्रोग्राम पर फोकस कर सकती है और पूरा ध्यान और एनर्जी उस पर लगा सकती है। 
Public private partnership से space tourism का बाजार बड़ा हो सकता है। 

चूंकि space program काफी महंगे होते है , निजी निवेश से इस सेक्टर को boost मिलेगा। इसके प्रोग्राम में तेजी आएगी। 
Private company के आने से geospatial data और remote sensing data  का उपयोग बढ़ जाएगा , जिनसे उनसे होने वाला लाभ बढ़ेगा। 

अगर इस तरह का बदलाव जारी रहा तो space programme में नए लक्ष्य जल्द से जल्द ही प्राप्त हो सकते है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें